Characteristics of cloud computing in Hindi 2021

Characteristics of cloud computing in Hindi 2021

hello दोस्तों monkey web  इस ब्लॉग पोस्ट में आपका स्वागत है आज मै आपको characteristics of cloud computing के बारे में वो सभी जानकारी दूंगा जो आपको जाननी ही चाहिए

Cloud Computing एक ऐसी टेक्नोलॉजी है, जो की हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दोनों ही तरह के कंप्यूटिंग रिसोर्सेज का उपयोग करती है | इसके साथ ही यह टेक्नोलॉजी नेटवर्क , एप्लीकेशन , सर्वर और स्टोरेज जैसे बहुत सी सर्विसेज का उपयोग करती है ताकि वह अपने उपभोक्ता (customer) को एक अच्छा सर्विस resource उनके उपयोग के अनुसार दे पाए

अगर मै क्लाउड कंप्यूटिंग को एक सिंपल टर्म में बताऊ तो यह एक एक ऐसी टेक्नोलॉजी है , जो आपके डाटा या एप्लीकेशन को इन्टरनेट  के माध्यम से स्टोर और एक्सेस करने के लिये प्रयोग में ली जाती है,

इसके लिये आपको किसी भी हार्ड डिस्क या लोकल स्टोरेज की जरुरत नहीं होती Cloud Computing में होने वाला पूरा काम रिमोटली किया जाता है इसके लिये आपके पास बस एक मोबाइल या लैपटॉप होना चहिये जिसमे इन्टरनेट की फैसिलिटी भी हो

Why we should use Cloud Computing..?

(Cloud Computing का उपयोग क्यों करना चहिये)

वही ऐसी कौन सी वजह है जिससे हमको क्लाउड computing का उपयोग करना चहिये , वैसे तो क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग करने से हमको बहुत से बेनिफिट्स देखने को मिलते है लेकिन आईये इससे होने वाले कुछ प्रमुख benefits  को जानते है

  • Low on maintenance and management from the Customer/user’s point
  • A huge amount of data storage, so never run out of capacity
  • With a device and internet connection, the services can be accessed at any time from anywhere

Characteristics of cloud computing क्या है ..?

Cloud computing की मुख्यता 5 essential characteristic है , जिससे हमको क्लाउड कंप्यूटिंग की काम करने के तरीको के बारे में और भी अच्छे से पता चलता है ,तो आईये जनाते है Characteristics of cloud computing के बारे में

On-demand Self Service – (मांग पर स्वयं सेवा)

ओन डिमांड का मतलब होता है की अपने अनुसार प्रयोग करना , Cloud computing भी on-demand सर्विसेज provide करती है यानि अगर आप क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग करते है तो आप जब चाहे इनकी सर्विसेज का इस्तमाल कर सकते है , इसके लिये आपको किसी से permission लेनी की जरुरत नही होती है

इसके साथ ही यहाँ पर बहुत ही कम human – interaction (मानव वार्तालाप ) होती है , यानि कोई भी यूजर जो क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तमाल कर रहा है, वह अपनी जरुरत के अनुसार ख़ुद से ही अपने रिसोर्सेज की जाँच और उसको मैनेज कर सकता है

उदहारण के लिये आपने ऑनलाइन टिकट्स बुक करी ही होगी जहा पर आप बिना किसी human – interaction के बहुत ही आसनी से अपनी टिकेट बुक कर लेते है, आजकल आपको इन्टरनेट पर  ऐसे बहुत से क्लाउड based प्लेटफॉर्म्स Avilabel है |

Broad Network Access ( व्यापक नेटवर्क एक्सेस ) –

Characteristics of cloud computing में  अब हम उसकि accessibility के बारे में जानते है , क्लाउड कंप्यूटिंग के बारे में एक बहुत ही सिंपल बात ये है , क्लाउड कंप्यूटिंग को पुरे इन्टरनेट पर कही से भी Access किया जा सकता है

Cloud computing अलग – अलग तरह के devices को भी सपोर्ट करती है यानि आप इसको अपने मोबाइल या लैपटॉप में बहुत आसनी से इस्तमाल कर सकते है , हां इसके लिये आपके पास एक अच्छा इन्टरनेट कनेक्शन होना चहिये

उदहारण : आपने Google photos का इस्तमाल किया ही होगा इस Cloud प्लेटफार्म पर आप कही भी रहकर किसी भी device से अपनी इमेज अपलोड कर सकते है

Easy resource with Multi-tenancy ( बहु-किरायेदारी के साथ आसान संसाधन ) –

आजकल लगभग सभी लोग Cloud Computing का इस्तमाल करते है यानि एक समय पर बहुत से यूजर इसका इस्तमाल कर रहे है और इसके लिये क्लाउड बेस्ड कंपनी एक मॉडल का उपयोग करती है जिसको multi-tenant model कहते है –

जिसमे आपको बहुत सी अलग – अलग सर्विसेज दी जाती है जिसमे आपका – Networks , servers , storage , applications आदि है |

इसके साथ ही ये सर्विसेज provide कराने वाली जितनी भी क्लाउड बेस्ड कंपनिया है वे इस बात का ध्यान रखती है की जितने भी user इन सर्विसेज का उपयोग कर रहे है , उन सभी को बहुत securely सारी सर्विसेज provide करायी जाये

उदहारण: इसको हम इस तरह से समझ सकते है , की एक flight में एक साथ बहुत से यात्री सफ़र करते है जिनकी destination एक ही होती है बस उनकी सीट अलग – अलग रहती है , और ऐसे में एयरलाइन्स सर्विसेज सभी यात्रिओ का सही तरह से उनकी सभी requirements को Fullfill करती है

Rapid Elasticity and Scalability (तेजी और मापनीयता )

characteristics of cloud computing में अब हम क्लाउड कंप्यूटिंग के रिसोर्स Elasticity के बारे में जानते है , क्लाउड कंप्यूटिंग में आपको अपने रिसोर्सेज को मनुअली handel नहीं करना होता है यह fully elastically काम करता है ,

यानि काम करने के लिये आपको जितनी रिसोर्स की जरुरत होती है उतनी ही provide किये जाते है और अगर किसी समय आपको अधिक रिसोर्स requirement होती है तो क्लाउड कंप्यूटिंग सिस्टम immediate requirement provide करा देता है

इसके साथ ही Scalability आपके क्लाउड purchase को और भी cost-effectiveness बना देती है क्युकी इससे आप केवल उतने ही रिसोर्सेज के लिये पैसो का भुगतान करते है जितने का आपने  इस्तमाल किया हुवा है

उदहारण : आपकी कोई website है, जिसमे सुबह के समय ट्रैफिक जायदा आता है लेकिन रात में वेबसाइट पर आने वाला ट्रैफिक डाउन हो जाता है, ऐसे में मैन्युअली इसको handel करना बहुत मुश्किल हो जाता है

तो ऐसे में आपको भी एक क्लाउड बेस्ड  सर्विस की जरुरत होगी जो आपकी वेबसाइट पर आने वाले ट्रैफिक को आटोमेटिक मैनेजकर सके और आपकी वेबसाइट डाउन ना हो

Measured Service (मापी हुवी सेवा)

क्लाउड कंप्यूटिंग सर्विसेज आपके बहुत से पैसे बचाने के लिये उपयोगी साबित हो सकती है , क्युकी यहाँ पर आप जितनी भी सेर्विसस का इस्तमाल अपने काम के लिये करते है उन सभी का एक रिपोर्ट बनाया जाता है जिसमे उसको track और moniter किया जाता है

ये रिपोर्ट दोनों को यानि यूजर और क्लाउड कंप्यूटिंग प्रोवाइडर दोनों ही को दी जाती है जो इनके बीच के अच्छी transparency बनता है

इसमें आपको Measured moniter billing की facility मिलती है जिससे आप केवल उन्ही resoucres के पैसे pay करते है जिनका आपने अपने सिस्टम पर उपयोग किया हुवा है

उदहारण:ये  कुछ वैसा है है जब आप ट्रेन में travell करते है तो वही तक के पैसे pay करते है जहा तक आपको जाना होता है

Also Read :-

Final word –

तो दोस्तों अगर आप भी किसी क्लाउड सर्विसेज  को purchase करने का विचार बना रहे है तो आपको Essential characteristics of cloud computing के बारे में पता होना चहिये ताकि आप एक अच्छी  सर्विस के लिये  अपने पैसे इन्वेस्ट करे मै आशा करता हु की आपको मेरी यह post अच्ची लगी होगी इसको अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे ताकि उनको भी इसके बारे में जानकरी मिल सके

2 thoughts on “Characteristics of cloud computing in Hindi 2021”

Leave a Comment

x